Tag: Indian Politics

भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस पार्टी के बीच शुरू हो गई है जुबानी जंग

| November 15, 2018 | Kunwar Hari Om | 0

लोकसभा चुनाव के दौर  के देखते हुए  देश की  दो शीर्षस्थ एवं प्रशस्त पार्टियां कांग्रेस पार्टी और भारतीय जनता पार्टी के बीच चुनावी जुबानी जंग…Read More

राहुल गांधी की पॉलिसी है देश को तोड़ने वाली-अमित शाह

| October 14, 2018 | Kunwar Hari Om | 0

बीजेपी भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने  राहुल गांधी पर आरोप लगाया है कि उनकी सारी योजनाएं देश को तोड़ने वाली योजनाएं हैं…Read More

राजनीतिक दलों से ऊँचा होता नेताओं का क़द!!

| July 3, 2018 | Usha Kedia | 0

आज हमारे देश की राजनीति एक अलग ही दिशा में मुड़ गई है, एक नयी करवट ले रही है| आज ये दल अपनी पहचान खोते जा रहें है, पहले इन दलों की पहचान इनकी नीति से होती थी कि कौन सा दल किस का अनुसरण करता है| पर आज पार्टियाँ अपने नेता के नाम से ही जानी जाती है, प्रत्येक दल में एक ऐसा नेता होता है जिसकी सुनी जाती है ,बस वही सर्वे सर्वा| किसी एक पार्टी की बात नही है, राष्ट्रीयदल हो या क्षेत्रीय पार्टियाँ सब में एक ऐसा नेता होता है जिसका क़द पार्टी से भी ऊपर होता है| अब कोंग्रेस को देखे तो सारे दिग्गज नेता किनारे पर बैठें है, बस सब राहुल जी की सुनते है और वो क्या क्या कहते हैं विचारणीय है| भारतीय जनता पार्टी जब जनसंघ हुआ करती थी तब एक मज़बूत लोकतांत्रिक दल था, बड़े बड़े धुरन्धर नेताओ की लम्बी लाइन थी पर अब यहाँ भी बस मोदीजी और अमित शाह के मन की बात सुनी जाती है| पहले तो राजनीति परिवारों ने सम्भाली पर अब तो सब अपनी अपनी दुकान खोले बैठे है, सब को कुर्सी का मोह है| किसी भी सांसद या विधायक को यदि कोई पद नही मिलता वो बस अपना एक अलग दल बना लेता है और उस पार्टी को उसीव्यक्ति के नाम से जाना जाता है, अब मायावती की बहुजन समाज पार्टी में बस बुआ जी की ही चलती है तो समाज वादी में बस अखिलेश जी साइकल चला रहें हैं| बंगाल को दीदी सम्भाले बैठी है तो दिल्ली को केजरीवाल जी, जहाँ ,जिधर भी देखे सभी पार्टियाँ बस एक ही नेता पर निर्भर हो गई है| सारी योजना ,नीतियाँ सब उसी के अदेशानुसर, कोई दल लोकतांत्रिक तरीक़े से नही चल रहा| सब की दृष्टि बस कुर्सी पर टिकी है येन केन प्रकारेंन बस सत्ता सुख मिल जाए, तो अब हमारे देश की राजनीति धीरे धीरे तानाशाही की ओर बढ़ रही है| विकल्प कोई है नही देश के पास, अब कोई जयप्रकाश जी जैसा आए और देश को सही राह पर ले जाए अन्यथा तो इनको ही सौपनी है पतवार| देश की नैया अब डूबने से कौन बचाये?…Read More

हड़ताल की जाँच पड़ताल

| June 1, 2018 | Usha Kedia | 0

हमारे शहर के सफ़ाई कर्मचारी कई दिनों से हड़ताल पर है. शहर की साफ़ सफ़ाई पहले भी बहुत अच्छी नही थी पर अब तो हालात…Read More

हिंदुस्तान और पाकिस्तान की बराबरी!! कभी नही!

| May 26, 2018 | Usha Kedia | 0

हिंदुस्तान बस हमारा हिंदुस्तान है. इसकी तुलना किसी से नही की जा सकती. पाकिस्तान से तो बिलकुल नही. दुनिया का सबसे बड़ा लोकतन्त्र, तेज़ी से…Read More

जनादेश या जुगाड़ु आदेश!

| May 21, 2018 | Usha Kedia | 0

कर्नाटक का नाटक समाप्त हो गया. सबसे बड़ी पार्टी ने दावा किया कि जनादेश हमारे पक्ष में है और बिना नम्बरों के फुर्ती में सरकार…Read More

धर्म के नाम पर

| May 10, 2018 | Usha Kedia | 0

धर्म के नाम पर फलता फूलता अधर्म… लोग अक्सर सड़क किनारे किसी पेड़ के नीचे एक पत्थर रख देते है। उस पर लाल या पीला…Read More

To Top