Tag: hindi poem

ज़िन्दगी का सामना

| June 18, 2018 | Sonam Kharwar | 2

जब अंत है मौत, तो किस्से दरें हम। आ ज़िन्दगी तेरा सामना करें हम।। आंसुओं से लड़, खुशियों को जीते हम। आ ज़िन्दगी तेरा सामना…Read More

बचपन

| June 14, 2018 | Sonam Kharwar | 0

चल लौट चलें उस दुनिया में, कुछ वर्ष पुरानी बगिया में। जब हम छोटे बच्चे थे, दिल के पूरे सच्चे थे। बस हँसना रोना आता…Read More

गरीब

| June 12, 2018 | Sonam Kharwar | 0

इंसान को इंसान से, बहुत दूर कर जाती है। वो और कुछ नही मित्र, गरीबी कहलाती है। बरसात की बझाड़ में, भीगता शरीर है। महँगाई…Read More

मुझे याद रहोगे तुम

| May 29, 2018 | Sonam Kharwar | 2

तुम्हे याद हमारी आये ना आये, हम रोज़ ही तुझको सोचेंगे। एक छोटी सी तस्वीर रखी है, तुझे रोज़ सवेरे देखेंगे। इंतेज़ार मेरा तुम्हे हो…Read More

आहत तो होते हैं हम!

| April 25, 2018 | Usha Kedia | 0

बेशक तुम्हें दिखाते नही हैं पर आहत तो होते हैं हम, जब भी कभी तुम दिखाते हो आँखे, सहम जाते हैं हम, ना जाने कितनी…Read More

To Top