Tag: कविता

तुम ना होते

| July 12, 2018 | Sonam Kharwar | 1

तुम ना होते, तो क्या होता। ज़िन्दगी का तज़ुर्बा, कुछ नया होता। मिलने को तुझसे, मन परेशान ना होता। हर वक्त लबों पे, तेरा नाम…Read More

हम भारत के लोग……

| June 27, 2018 | Usha Kedia | 0

हम भारतवासी अपने पूरे होशों हवास में शपथ लेते हैं कि हम भारत को अखण्ड नही रहने देंगे ! हम भारत वासी शपथ लेते हैं की देश हित का सोचने वालों को मरने पर विवश कर देंगे. पूरे सोच विचार के पश्चात हम भारत के लोग यह प्रण लेते हैं की अपने हितो पर देश हित की बलि चढ़ाने में संकोच नही करेंगे. हम बस उसी पार्टी की सरकार बनाने में सहयोग करेंगे जिससे हमारे स्वार्थ सिद्ध होंगे. हम भारतवासी पूरा प्रयास करेंगे कि देश भ्रष्टाचार से मुक्त ना हो सके. साफ़ सुथरी सरकार और ईमानदार नेता हमारी राह के रोड़े हैं. सही ग़लत की परवाह किए बिना हम चन्द रूपयों में अपना वोट बेच देंगे. हम सभी भारत के लोग अपनी पहचान अपने धर्म के आधार पर बताएँगे. जैसे हिन्दू,मुसलमान,सिख या ईसाई आदि. राजनीति भी हम जात पात के आधार पर ही करेंगे. यदि किसी के साथ दुर्व्यवहार होता है या किसी की हत्या हो जाती है तो सबसे पहले उसका धर्म और जाति पूछी जानी चाहिए. हम उसके बाद फ़ैसला करेंगे की दोष किसका है. आप को क्या लगता है? ये अंगर्ल प्रलाप है!! हमारे देश में बस यही हो रहा है. देश की सोचने वालों की बलि ली जाती है. देशद्रोही सरेआम खुले घूमते है. श्री राम कहने वालों को जेल की सज़ा की माँग होती है. हिंदुस्तान मुर्दाबाद , भारत तेरे टुकड़े होंगे. ऐसा कहने वाले मीडिया में हीरो बन गये. कोई दुस्साहस नही करता उन्हें जेल भेजने का. सेना को सर्जिकल की सफ़ाई देनी पड़ती है! आतंकवादियो और पत्थर बाजों पर रहम दिखाया जाता है. सेना को मरने के लिए सीमा पर बिठा रखा है और अलगाववादियों को सर पर. इन हालातों में एक नया शपथ पत्र बन जाना चाहिए ….Read More

आहत तो होते हैं हम!

| April 25, 2018 | Usha Kedia | 0

बेशक तुम्हें दिखाते नही हैं पर आहत तो होते हैं हम, जब भी कभी तुम दिखाते हो आँखे, सहम जाते हैं हम, ना जाने कितनी…Read More

दिल टूट गया है

| April 2, 2018 | Sonam Kharwar | 3

देख सखी! दिल टूट गया है, मेरा सजन-सखा यूँ रूठ गया है। ख़ता हुई न जाने क्या है, किस बात की मुझको मिली सजा है।…Read More

अच्छा लगता है

| April 1, 2018 | Sonam Kharwar | 4

दो लफ्ज़ो की बात, तेरी दोस्ती का साथ! अच्छा लगता है। मेरे दिल की आवाज़, तेरा हर वो अंदाज़! अच्छा लगता है। नाक पर गुस्सा,…Read More

होली

| February 13, 2018 | Sonam Kharwar | 2

ओरी होरी! भेज संदेशा, बोल पिया को जल्दी आयें। तेरा नीला-पीला रंग क्या मोहेगा, मोहे तो पिया का रंग ही भाये। पिया का रंग गहरा…Read More

अत्याचारी मानव

| December 25, 2017 | Sonam Kharwar | 1

धरती भी एक दिन बोल पड़ेगी, अत्याचारी मानव की पोल खुलेगी। अनन्त काल की गाथा है ये, कब तक सारे दर्द सहेगी।   काँप उठेगा…Read More

तेरी-मेरी दोस्ती

| December 24, 2017 | Sonam Kharwar | 0

छोटा सा एक बच्चा था, मासूम बहुत ही लगता था। माँ का था वो राज-दुलारा, शर्मिला सा बहुत ही प्यारा। एक खेल खुदा ने ऐसा…Read More

To Top